Backlinks क्या है | What is Backlink In Hindi

Blog Create करने के बाद दो बहुत ही महत्वपूर्ण बातों पर Focus करना पड़ता है। जिसमे से पहला तो Quality Content है, और दूसरा है Backlink.

तो अब प्रश्न उठता है कि Backlink क्या है (What is Backlink). हो सकता है Backlink के बारे में आपको कुछ-कुछ जानकारी मिल चुकी हो लेकिन अभी तक आप यह अच्छी तरह समझ नही पाए हैं कि आखिर Backlink क्या है? Backlink कैसे बनाएं?

Backlink को लेकर नए ब्लॉगर में एक अजीब का डर भी रहता है। यदि आप भी एक नए Blogger है तो मेरी इस बात से जरूर इत्तेफाक रखेंगे।

खैर अब अब डरने की बात नही है क्योंकि Backlink से जुड़ी सभी जानकारी आज आपको हमारे द्वारा दी जाएगी।

हमारी कोशिश रहेगी कि Backlink से संबंधित Useful Information आपको दी जाए।

Backlinks क्या है? (What is Backlink)

जब किसी Website को दूसरे वेबसाइट से Link करते है तो Link करने की यही प्रक्रिया Backlink कहलाती है।

आसान शब्दों में कहें तो जब हम अपने Website या Website Page की Link को किसी दूसरी Website से जोड़ते हैं, तब website या उस Webpage का Backlink बन जाता है।

Backlink का सीधा सा मतलब है, हमारे Blog की पहुँच कहा तक है। हम अपने आम जिंदगी में देखते हैं कि जिस व्यक्ति की पहुँच जितनी ऊँची जगह तक होती है उसकी Value भी उतनी ही ज्यादा बढ़ जाती है।

आम जिंदगी में चलने वाला यह फंडा Blog के SEO में भी बहुत अहम Role निभाता है। आपके Blog को जितनी अच्छी Website से Backlink मिलेगी, Google की नजर में उसकी Value उतनी ही ज्यादा होगी।

Backlink क्यों महत्वपूर्ण है?

किसी भी Website के SEO और Ranking में Backlinks का बहुत अधिक महत्व होता है। चलिए जानते हैं वो कारण जिनकी वजह से Backlink का महत्व इतना ज्यादा है।

1. Backlink यानी Google की नजर में आने की ज्यादा संभावना.

Backlink की मदद से आप अपनी Website को Google की नजर में डाल सकते हैं। मान लीजिए आपकी एक नई Website है और आपको एक ऐसी Website से Backlink मिला है जिसमे बहुत ज्यादा Traffic आता है।

जब Google Spider उस Website के Page पर आयेंगे तो आपकी Website भी Google Spider की नजर में आएगी।

इस तरह जितनी ज्यादा Backlinks होगी उतनी ही ज्यादा बार आपकी Website Google Spiders की नजर में आएगी, इससे Index होने की संभावना बहुत ज्यादा बढ़ जाएगी साथ ही Search Result में Ranking भी बेहतर होगी।

2. ज्यादा Backlinks मतलब, Google की नजर में अच्छी Website.

Google, Algorithm पर काम करता है इसका खुद का तो कोई दिमाग होता नही है। अब आप सोचिए कि एक ही Topic पर ढेरों Content लिखे जाते है लेकिन Google कैसे पता करता होगा कि कौन सा बेहतर है?

इसमे कई Factor काम करते हैं, जिनमे से सबसे महत्वपूर्ण Backlink है। जैसे हम समाज मे देखते है न की जिस व्यक्ति की जितनी ज्यादा अच्छे लोगो से पहचान होती है, उसकी समाज मे उतनी ही ज्यादा प्रतिष्ठा होती है। Google भी ठीक इसी तरह काम करता है।

किसी Website के पास 3 Backlink है वही दूसरी Website के पास 100 Backlink है, तो Google दूसरी Website को ज्यादा महत्व देगा, बशर्ते Backinks में Quality होनी चाहिए।

यदि किसी अच्छी Website से आपको Backlink मिलता है तो Google यह समझता है कि जरूर इसमे अच्छा Content होगा तभी एक High Authority Website इसे Reffer कर रही है।

जितनी ज्यादा अच्छी Websites आपकी Website को Reffer करेंगे, आपके Website की Value Google की नजर में उतनी ही ज्यादा बढ़ जाएगी।

3. Backlink से Website की विश्वसनीयता बढ़ती है.

Google का काम बहुत ही Simple है, हमारे द्वारा माँगी गई किसी भी जानकारी का सबसे बेहतर परिणाम दिखाना। अब मान लीजिए की किसी ने Google में Health से संबंधित किसी दिक्कत का समाधान जानने के लिए कुछ Search किया।

Google के पास उससे संबंधित दो Website है, दोनों का Content बहुत अच्छा है। लेकिन एक website ने कई अन्य Health से जुड़ी Website से Backlink बनाई है, जबकि दूसरी Website ने किसी ऑटोमोबाइल और टेक्नोलॉजी से संबंधित Website से Backlink बनाई है तो आप किस Website की जानकारी पर ज्यादा भरोसा करेंगे?

बेशक पहली Website पर। यही बात Google भी देखता है। Google को विश्वास दिलाने के लिए कि आप अपने Niche में सबसे बेहतर Content Provide करते है, इसके लिए यह भी जरूरी है, Backlink भी Same Niche पर काम करने वाली website से हो।

इससे Google आपके काम को Highly Rate करता है और जल्दी Index करता है।

Types Of Backlinks | बैकलिंक के प्रकार.

Link Juice Transfer करने के आधार पर Backlinks दो प्रकार की होती हैं।

  • Do-Follow Backlinks
  • No-Follow Backlinks.

1.Do-Follow Backlinks

Do-Follow Backlinks, Google या किसी भी Search Engine को यह Allow करती है कि वह Link का उपयोग करके आपकी Website तक पहुँच सकें।

यानी Do-Follow Backlinks आपकी Website को Link Juice देती है। हर कोई Do-Follow Backlinks ही बनाना चाहता है क्योंकि इससे हमारी Website की Ranking बेहतर बनती है।

2. No-Follow Backlinks

No-Follow Backlinks का Website के SEO से कोई लेना देना नही होता है, न ही इसकी वजह से website की Ranking में कोई प्रभाव पड़ता है।

No-Follow Backlinks को Google या कोई भी Search Engine, Notice ही नही करता। लेकिन फिर मैं ये कहूंगा कि आपको No-Follow Backlinks भी बनाना जरूरी है। यह क्यों जरूरी है, इसके बारे में आगे बात करेंगे।

एक अच्छी Backlink की पहचान.

जैसा कि अब तक आप यह तो समझ चुके होंगे कि Backlinks क्या है और किसी भी website के लिए Backlinks कितना जरूरी है।

कई नए Blogger इतना जानने के बाद बस आँख मूंदकर Backlinks बनाने में लग जाते हैं, लेकिन आपको यह पता होना चाहिए कि सभी Backlink का महत्व एक समान नही होता।

सभी Backlink की Quality भी एक समान नही होती। तो अब प्रश्न उठता है कि आखिर एक अच्छी Backlink की पहचान क्या है। तो चलिए इसे भी जान लेते हैं।

Backlink Relevance है या नही.

आजकल Google उन Backlink को ज्यादा महत्व देता है जो Relevant है। उदाहरण के लिए कोई एक Website है जो कि Automobile के ऊपर है।

उसने एक Post में दो अलग अलग Website को Backlink दिया है, जिसमे से एक Website निबंध के ऊपर है और दूसरी Engine के ऊपर है।

तो आपको क्या लगता है, किस Link पर Visiter ज्यादा Click करेंगे? जहाँ तक मेरा अनुमान है लोग Engine के ऊपर दी गई Link पर ज्यादा जायेंगे क्योंकि कही न कही यह Automobile से जुड़ा हुआ विषय है, जबकि निबंध बिलकुल हटकर है।

साथ ही Engine के ऊपर जो Website है उसे इस Backlink का ज्यादा फायदा मिलेगा क्योंकि उसने अपनी ही Niche से संबंधित Website में Backlink बनाया है जबकि निबंध वाली Website को उतना फायदा नही मिलेगा।

इसलिए Backlink अपने Niche की किसी Website से हो यह ध्यान रखें।

Authority जरूर देखें.

किसी कमजोर Web Page की तुलना में मजबूत Web Page से मिली Backlink की मान्यता ज्यादा होती है। इसलिए कोशिश करें कि ऐसी ही Backlinks आपको मिल सके।

जैसा कि ऊपर भी इस बात का जिक्र किया है Google यह देखता है कि जो Website आपको Backlink दे रही है, उसकी Authority क्या है?

यदि Authority ज्यादा है तो आपकी Website पर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। पर अगर कम है तो ज्यादा Advantage नही मिलेगा।

Website का Traffic जरूर देखें.

किसी ऐसी Website से यदि Backlink मिलता है, जिसमे बहुत ज्यादा Traffic आता है, तो इसका पहला Advantage तो यह रहता है कि आपकी Website पर भी कुछ Referral ट्रैफिक आएगा।

वही दूसरा फायदा Website की Ranking में दिखाई देता है। कुछ Websites ने अपनी Research में यह बताया है कि जिस Website में ज्यादा Traffic आता है यदि उससे Backlink मिलता है Ranking में कुछ फर्क जरूर पड़ता है।

Link की Placement.

आप एक Visiter ने नाते सोचिए कि क्या आप किसी ऐसी Link पर click करना चाहेंगे जो कुछ हटकर न दिखाई दे, या फिर Footer में मौजूद हो।

कभी-कभी हो सकता है लेकिन सामान्यतः अधिकतर लोग ऐसी लिंक पर Click नही करते। इसीलिए किसी भी Post में Link ऐसी जगह पर रखें जहाँ Click मिलने की संभावना ज्यादा हो।

जैसे यदि लिंक Text का रंग बाकी Content से अलग है तो Reader का ध्यान खुद ही link की तरफ जाएगा और वह link पर Click कर सकता है।

साथ ही link का Font Style अलग किया जा सकता है। Link हमेशा मुख्य Content के बीच मे देने से Click मिलने की possiblity कई गुना बढ़ जाती है। ये बातें है तो छोटी, लेकिन बहुत ज्यादा प्रभावशाली हैं।

Backlink कैसे बनाएं?

Backlink बनाने के मुख्य रूप से दो ही तरीके है।

  • Backlink प्राप्त करना.
  • Backlink बनाना.

1.Backlink प्राप्त करना

इन्हें Organic Backlink कहा जाता है क्योंकि इसके लिए आपको कोई Effort नही करना पड़ता। इसमे कोई भी Google Search, Social Media या किसी से सुनकर आपकी Website तक आता है।

यदि आपका Content पसंद आया तो उसे अपनी Website से Link कर लेता है। इस तरह से एक Backlick बन जाती है।

ऐसी Backlink Create करने के लिए आपको ऐसा Content बनाना चाहिए जो बहुत ही ज्यादा Useful हो। लोगो की सबसे बड़ी समस्या से जुड़ा हो।

2.Backlink बनाना

Backlink प्राप्त करने का दूसरा और सबसे ज्यादा प्रचलित तरीका है, खुद Backlink बनाना। Organic Backlink फायदा देते है, लेकिन वो बन पाएंगे या नही, कुछ सुनिश्चित नही रहता।

इसलिए अधिकतर Website Owner खुद ही Backlinks बनाने की कोशिश करते हैं। Backlink कैसे बनाएं? इसके बारे में आगे हम विस्तार से बात करने वाले है।

Backlink बनाने के तरीके.

Backlink बनाने के बेहद ही Useful तरीकों के बारे में आगे हम बात करने वाले हैं।

1.Guest Post

Backlink बनाने का सबसे ज्यादा प्रचलित तरीका है Guest Posting. Guest Post के जरिए आप Do-Follow Backlink बना सकते हैं।

इसके लिए आपको ज्यादा कुछ नही करना है, काम बेहद ही आसान है। सबसे पहले आपको कुछ ऐसी Website खोजनी है जो आपकी Niche से संबंधित है।

इसके बाद आपको उस Website के Owner से Facebook, Email या किसी भी उपलब्ध माध्यम से संपर्क स्थापित करना है।

आपको उन्हें कहना है कि आप उनकी Website में Guest Post करना चाहते है। यदि उन्हें Guest Post करवाने में कोई आपत्ति नही है तो वो अपनी Requirment बता देंगे।

फिर बस आपको Post लिखकर उन्हें भेज देना है। साथ मे अपनी Website की Link, और आपका काम हो गया।

कुछ Website Owner Free में यह सुविधा देते है, जबकि कुछ इसके लिए पैसे लेते है।

2.Question and Answer Forum

आज कई ऐसे Forum है जहाँ लोग सीधे अपने प्रश्न पूछते हैं क्योंकि उन्हें उनका जवाब नही मिल रहा है। आपके लिए Backlink बनाने का यह एक अच्छा अवसर है।

लोगो द्वारा पूछे गए प्रश्न के जवाब आप अपनी Post के जरिए दीजिए। आप एक ऐसी Post तैयार करिए जो उनकी समस्या का समाधान करता हो।

उनके पूछे गए प्रश्न पर जाइए और उत्तर दीजिए साथ ही वहाँ अपने ब्लॉग की link भी डाल दीजिए। इसके लिए Quora सबसे अच्छा माना जाता है। आपका उत्तर काफी Detail में होना चाहिए। लोगो को उत्तर अच्छा लगा तो उसे Upvote भी करेंगे।

जितना ज्यादा Upvote मिलता है, Quara उतना ही ज्यादा Traffic भी आपके उत्तर में भेजता है।
Link के जरिए आपके Blog पर Traffic भी आ सकता है। यानी Backlink तो मिलेगा ही साथ मे Traffic भी बढ़ सकता है।

3.Infographics

Infographics यानी कि Graphics की मदद से Information देना। Backlink बनाने का यह भी एक अच्छा तरीका है।

इसके लिए बस आपको अपने ब्लॉग पोस्ट से जुड़ा इन्फोग्राफिक तैयार करना है और किसी ऐसी Website में सबमिट कर देना है जो Inforgraphic लेती हो।

इंफोरग्राफिक में आप अपनी Post का Link जरूर Add कर दें, इससे Backlink मिल जाएगा।

4.Broken Links

किसी ब्लॉग में जो Outside Link Add होते हैं, यदि वो Dead हो जाएं तो इसे Broken Link कहा जाता है। जब आप ऐसी Links पर Click करेंगे तो वहाँ कोई Content नही मिलेगा। यानी कि उस URL में कोई Content नही है।

अब यहाँ आपके लिए एक मौका बनता है। आपको बस कुछ High Authority Website में Broken Links खोजना है। इसके लिए आप Online Tools की मदद ले सकते हैं।

इसके बाद आपको उस Website के Owner से Contact करके उन्हें बताना है कि उनकी Outside Link Dead हो चुकी है, उसकी जगह आप अपने Website की Link देना चाहते हैं जिसका Content Relevant भी है और अच्छा भी लिखा है।

यदि Owner मान गया तो आपको एक High Quality Backlink मिल जाएगी।

5.Internal Linking

ON Page और Off Page SEO के लिए हम बहुत तामझाम करते हैं लेकिन Internal Linking को उतना तवज्जो नही देते।

Overall SEO में Internal Linking का बड़ा योगदान रहता है। इसलिए आप भी इसके महत्व को समझकर Internal Linking जरूर करें।

ज्यादा से ज्यादा ऐसी Post लिखें जो पिछली Post से जुड़ी हो। इससे Internal Linking करना आसान भी हो जाता है और Linking, Relevant भी लगती है।

6.Content Is King

जी हां! Content is the King आपने सुना ही होगा, यह बिलकुल सही है। Google का Ultimate Goal है, अच्छा Content Provide करना।

यदि Content लोगो की जरूरत पूरी करता है तो Backlinks खुद ही बनती जाएगी।

7.Social Media

अपने Content को कम से कम 7-8 सोशल मीडिया प्लेटफार्म में जरूर शेयर करें। हर प्लेटफार्म पर पहले तो अपने ब्लॉग के नाम से एक अच्छा सा Page बना लें, फिर उसमें ही अपने Post शेयर करें।

एक professional Look दें, Pages को। इससे लोगो पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। Traffic तो आता ही है, साथ कि उस Niche में आपका Blog एक ब्रांड के रूप में Famous होता है।

किस प्रकार के Backlinks बढ़िया है?

जैसा कि आप जान चुके हैं कि Backlinks दो प्रकार की होते है, Do-Follow Backlinks और No-Follow Backlinks.

अब प्रश्न उठता है कि आख़िर किस तरह के Backlinks हमारी Website के लिए जरूरी है? तो चलिए जानते हैं दोनों तरह के Backlinks की क्या खूबियाँ है।

Do-Follow Backlinks की खूबियां.

सबसे पहली बात तो आप यह जान लीजिए कि आप देखकर दोनों तरह की link में अंतर नही बता सकते। यह सिर्फ Coding देखकर ही समझा जा सकता है।

अब विषय पर आते हैं। Do-Follow Backlinks Google को यह बताता है कि इस Link से जो Content हमें मिल रहा है वह भी महत्वपूर्ण है तो कृपया उस पर भी ध्यान दीजिए।

जब हमारी Website को कोई High Authority Website, Do-Follow Backlink देती है तो Google इसे काफी ज्यादा महत्व देता है और हमारी Website की Ranking में सुधार करता है।

पर यदि किसी खराब Website से हमारी Website को Do-Follow Backlink मिलता है तो Google की नजर में हमारी Website की छवि खराब होती है और Website की Ranking Down हो जाती है।

यानी सरल शब्दों में कहे तो Do-Follow Backlink किसी भी Website की Rank को सुधार भी सकती है और बिगाड़ भी सकती है।

तो निष्कर्ष यह है कि Do-Follow Backlink बनाना बहुत जरूरी है, खासकर SEO को ध्यान में रखते हुए, लेकिन हमेशा अच्छी Website से ही बनाए तभी फायदा मिलेगा।

No-Follow Backlinks की खूबियां.

आप सोच रहे है कि No-Follow Backlinks न तो SEO Improve करता है, और न ही Google इसे Notice करता है तो फिर ऐसी links बनाने की क्या जरूरत है?

यदि आपको किसी ऐसी Website से No-Follow Backlink मिल जाता है जिसमे बहुत ज्यादा Traffic आता है तो इससे आपके Blog का Traffic भी बढ़ सकता है।

Mouth Marketing करने के लिए No-Follow Backlink बहुत जरूरी है। जैसे यदि कोई आपके Blog को किसी Forum या Social मीडिया में share करता है तो इससे आपका काम लोगो की नजर में आएगा, और आपके Blog में Visiters बढ़ जाएंगे।

Blog में किस तरह की Links बनाएं?

आपने दोनों तरह के Links के फायदे देख लिए है। अब बात आती है कि अपने Blog पर किस तरह की Link ज्यादा रखें?

सबसे पहली बात कि आपको Do-Follow Backlinks रखना तो जरूरी है ही, इसके बिना काम नही चलेगा, पर साथ मे No-Follow Backlinks भी रखना है।

यदि आप अपनी Website में सिर्फ Do-Follow Backlinks बनाएंगे तो कही न कही Google को यह लग सकता है कि यह Website सिर्फ Link Juice पाने के लिए Link Building कर रही है।

जबकि कुछ No-Follow Backlinks होने से आपकी Website का संतुलन अच्छा रहेगा, और Google को भी आपका Blog Genuine लगेगी।

Backlinks कैसे Check करें?

Backlinks Check करने के दो तरीके हैं, जिसमे से पहला तरीका अपनी Website के Backlinks Check करने के लिए है, जबकि दूसरा तरीका किसी दूसरी Website के Backlinks Check करने के लिए है।

1.अपनी Website के Backlinks Check करने का तरीका.

  • सबसे पहले Google Search Console में एक Free Account बनाएं और वहाँ अपनी Ownership Varify करवाएं।
  • इसके बाद Sidebar में Links का विकल्प दिखेगा, उस पर Click करें।
  • यहाँ External Links के नीचे Top Linked Page, Top Linking sites और Top Linking Text का विकल्प दिखेगा। यहाँ सबसे पहले आप Top Linked Page पर जाएं।
  • यहाँ किसी भी URL पर Click करें।
  • अब Screen पर URL से जुड़ी सभी Websites की सूची आ जायेगी।
  • अब किसी भी Website पर Click करके यह जान सकते हैं कि उस Website के किस Page से आपकी Website जुड़ी है।

2.दूसरे की Website की Backlinks Check करने का तरीका.

किसी ऐसी Website की Backlinks check करना है जिस पर आपका अधिकार नही है उसके लिए आप Ahref के Free Backlink Checker का उपयोग कर सकते हैं।

Ahrefs Tool से Backlinks कैसे Check करते हैं, चलिए जानते हैं:-

  • Website का Domain या URL डालें और Check Backlinks पर Click करें।
  • यहाँ आपको Total Backlinks, Referring Domains के साथ Top100 Backlinks मिल जाएंगे।
  • हर Backlink की Detail Study कर सकते हैं। यहाँ पर Domain Rating, URL Rating, Traffic, Referring Page जैसे अहम जानकारियाँ मिल जाएगी।
  • इसके साथ ही Top 5 Anchors, Top 5 Pages जैसी कई अहम जानकारी आप यहां से पा सकते हैं।

निष्कर्ष.

जब Google जैसे Search Engine में Rank करने की बात आती है तो उसमें Backlinks एक अहम Role निभाती है। सभी Backlinks का महत्व एक जैसा नही होता, इस बात को हमेशा याद रखें।

ऐसा कहा जाता है कि जो Backlink बहुत आसानी से मिल जाए उसका महत्व उतना ही कम होता है और जो Bachlink मुश्किल से मिलती है, उसका महत्व ज्यादा होता है।

आशा है Backlink क्या है (What is Backlink) से संबंधित सभी सवालों के जवाब आपको मिल गए होंगे। Blogging से संबंधित जानकारी पाने के लिए हमारे Blog पर आते रहे।

3db34a8310eed3a13c260cb2d22aa148?s=96&r=g
Kumarhttps://www.trendinghindi.com
नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम 'कुमार' है। मुझे लिखने और पढ़ने में बहुत दिलचस्पी है। मैं पिछले कई वर्षों से विभिन्न विषयों पर लिख रहा हूं। अगर आपको किसी भी विषय से संबंधित कोई समस्या है, तो हमें कमेंट करके बताएं और मुझे आपकी मदद करने में खुशी होगी।

Related Articles

SEO क्या है | What is SEO In Hindi

Blog पर Traffic लाना है तो जरूरी है कि Articles Search Engine में Top 10 Position में Rank हो, पर Rank तो...

Backlinks क्या है | What is Backlink In Hindi

Blog Create करने के बाद दो बहुत ही महत्वपूर्ण बातों पर Focus करना पड़ता है। जिसमे से पहला तो Quality Content है,...

WordPress Themes क्या है – पूरी जानकारी

आज के इस लेख में हम जानेंगे कि WordPress Themes क्या है, Free Themes और Premium themes के क्या फायदे और नुकसान...

Stay Connected

21,084FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

SEO क्या है | What is SEO In Hindi

Blog पर Traffic लाना है तो जरूरी है कि Articles Search Engine में Top 10 Position में Rank हो, पर Rank तो...

Backlinks क्या है | What is Backlink In Hindi

Blog Create करने के बाद दो बहुत ही महत्वपूर्ण बातों पर Focus करना पड़ता है। जिसमे से पहला तो Quality Content है,...

WordPress Themes क्या है – पूरी जानकारी

आज के इस लेख में हम जानेंगे कि WordPress Themes क्या है, Free Themes और Premium themes के क्या फायदे और नुकसान...

वर्डप्रेस प्लगइन्स क्या है – WordPress Plugins in Hindi

कई Bloggers अपने Blogging Journey की शुरुआत WordPress से करते हैं, क्योंकि Blogging के लिए सबसे आसान Platform यही है। WordPress को...

ब्लॉगर क्या है – What is Blogger In Hindi

आज का हमारा विषय है Blogger kya hai?जबसे Internet की क्रांति भारत मे आई है, तब से Online...