ब्लॉगर क्या है – What is Blogger In Hindi

आज का हमारा विषय है Blogger kya hai?

जबसे Internet की क्रांति भारत मे आई है, तब से Online पैसा कमाने के कई नए तरीके भी बन गए हैं।

Blogging इन्ही कुछ तरीको में से एक है। Blogging आज के वक़्त में बहुत ज्यादा Popular हो रही है, और इसके लिए सबसे ज्यादा जिस Platform का उपयोग है जाता है वो Blogger है।

असल मे Blogging करने के तो और भी कई Platform है लेकिन शुरू में हम निवेश करने से कतराते है और चाहते हैं कि कोई ऐसा तरीका मिल जाए जहाँ पैसा भी न लगे और Blogging करने के फायदे भी मिल जाएं।

तब जाकर व्यक्ति ढूंढते ढूंढते Blogger तक पहुँच जाता है। फिर यहाँ एक फ्री में ब्लॉग बनाता है और Post लिखना शुरू कर देता है, इस उम्मीद के साथ कि एक दिन वह भी Blog से पैसे कमाने लगेगा।

खैर कुछ लोगो का यह सपना पूरा होता है और कुछ लोगो का नही हो पाता। पर यदि आपने कुछ इसी तरह का सपना देखा है तो बिलकुल भी मत घबराइए।

क्योंकि हम आपको Blogger या Blogspot से जुड़ी A to Z जानकारी देने वाले हैं, जिसको जानने के बाद
खुद को Blogger का Expert भी समझ सकते हैं।

तो चलिए देर न करते हुए शुरू करते हैं Blogger Kya hai?

Blogger kya hai?

Blogger या Blogspot एक Blog Publishing service है जो हमें यह सुविधा देता है कि हम अपने कई Blog बना सकें।

यदि आप Blogging के बारे में थोड़ा बहुत भी जानते हैं तो Blogspot का नाम तो सुना ही होगा। हो सकता है आपका कोई ब्लॉग भी हो।

Blogspot के बारे में यदि दो लाइन कहना चाहे तो कहा जा सकता है कि blogpot की वजह से दुनियाँ के करोड़ो लोगो का Blogging करने का सपना पूरा हो पाया है।

हर किसी के पास इतना पैसा नही होता कि वह Blog में Invest कर सकें, जहाँ सफलता मिलेगी या नही, यह भी सुनिश्चित नही है।

लेकिन Blogger ने ऐसे सभी लोगो का रास्ता साफ कर दिया है। यदि कही दूसरी जगह अपना ब्लॉग शुरू करेंगे तो आपको Domain खरीदना पड़ेगा, Hosting खरीदनी पड़ेगी।

लेकिन Blogspot, Domain और Hosting दोनों ही फ्री में देता है। यानी आपको सिर्फ अच्छा Content बनाना है।

यदि आपकी Website पर Traffic आने लग गया तो Adsense की मदद से बिना कोई खर्च किये आप पैसा कमाना शुरू कर देते हैं।

Blogger कब बना था?

असल मे Blogger को 1999 में Pyra Lab के द्वारा बनाया गया था, लेकिन आगे चलकर 2003 में Google ने इसे खरीद लिया। अब Blogger भी Google की Property है।

पहला Blog कब बना था?

अब आपके मन मे यही प्रश्न उठ रहा होगा कि आखिर Blogging की शुरुआत कब और किस तरह से हुई थी।

कहते हैं दुनियाँ का पहला ब्लॉग 1994 में बना था। पहला ब्लॉग www.links.net है जिसको जस्टिन हॉल ने बनाया था। जस्टिन तब एक College Student थे।

हालांकि उस वक़्त उन्होंने जो बनाया था उसे ब्लॉग नही कहा था बल्कि Personal Homepage कहा था। लेकिन आजकल के ब्लॉग की संरचना इनके Personal Blog से मिलती-जुलती है।

इसी वजह से links.net पहला ब्लॉग कहलाता है। लेकिन 1997 तक आते आते Blogger से मिलता जुलता एक नया शब्द आया, Weblog.

WEblog शब्द को सबसे पहले जॉर्न बर्गर ने Use किया था। इसका Simple सा अर्थ था, Web पर Log करना।

Weblog शब्द आगे चलकर Blog में बदल गया है जिसका Credit जाता है Programmer Peter Merholz को।

इन्होंने ब्लॉग बनाया और Update करने की Method भी खोज निकाली। लेकिन तब भी सब कुछ इतना आसान नही था, जितना आज के Blogs में रहता है।

तब Blog में सिर्फ वही व्यक्ति Update कर सकता था, जिसे Coding का ज्ञान था। इन्ही शुरुआती वर्षों में कई ब्लॉग शुरू हुए जिनमे से एक LiveJournal है जो बहुत ज्यादा Popular हुआ था।

इसके बाद 1999 में एक Platform बना जो आगे चलकर Blogger के नाम से Popular हुआ। इसको
Evan Williams और Meg Hourihan ने मिलकर शुरू किया था।

आज काफी लोग Blog बनाने के बारे में सोचते है और Blog बनाते हैं, इन सब मे सबसे ज्यादा योगदान Blogger का ही है। Blogger ने Blogs को सबसे ज्यादा लोगो तक पहुंचाया है।

Blogger की खासियत क्या है?

जैसा कि आप जानते होंगे कि wordpress में वेबसाइट शुरू करने के लिए सबसे पहले एक Hosting Plan लेना पड़ता है।

लेकिन Blogger में आपको Hosting plan लेने की जरूरत नही है क्योंकि Blogger के लिए Hosting खुद Google देता है।

Blogger में आपको Domain Name लेने की भी दिक्कत नही है क्योंकि Blogger एक Sub Domain देता है कि जो कि blogspot.com होता है।

यानी यदि आप Blogger में कोई Website बनाते हैं तो उसका Address, www.xyz.blogspot.com कुछ इस तरह का होगा।

Blogger में अपना Blog बनाने के लिए आपको एक blogger Account की जरूरत पड़ेगी। आप अपने एक Account से 100 Blogs शुरू कर सकते हैं।

Blog और Website में क्या अंतर है?

Blog और Website के बीच क्या अंतर है इसको लेकर अधिकतर लोग बहुत ज्यादा Confuse रहते हैं। तो चलिए आज आपकी इस दुविधा का समाधान हो जाएगा।

ब्लॉग और वेबसाइट भले ही देखने मे एक जैसी हो पर दोनों के बीच एक बुनियादी अंतर होता है Content का।

Website, Static होती है, जबकि Blog, Dynamic होते हैं। अभी भी नही समझ पाए तो चलिए आसान शब्दों में समझते हैं।

जिनमे हर दिन कोई न कोई नया Post आता है, नई Update आती रहती है, वह Blog कहलाता है, जबकि Website का Content Update नही होता है।

यानी आपने यदि किसी Website को एक साल पहले खोला हो और आज फिर दोबारा खोल रहे है तो उसमें आज भी उतना ही Content दिखेगा जितना एक साल पहले दिखाई दिया था।

उदाहरण के लिए आप Indian Railway की Website देखिए। या किसी सरकारी योजना से संबंधित Website देख सकते हैं। इनमे एक बात Common मिलेगी। इनका Content बदलता नही है।

जबकि Blog की बात की जाए तो इनमे Daily कुछ न कुछ Content डाला ही जाता है। अब यह Writer के ऊपर निर्भर करता है कि वह प्रतिदिन 1 post डालता है 10 Post.

Blogger की सीमाएं.

Blogger एक Free Blogging Platform है। इसी वजह से Blogger की कुछ सीमाएं है। यदि आप Blogger में Blogging करना चाहते हैं तो इन्ही सीमाओं के अंदर रहकर करना पड़ेगा।

  • इसमे 500 शब्द से ज्यादा का Blog Description नही लिख सकते हैं।
  • एक Account से सिर्फ 100 Blog ही खोल सकते हैं।
  • अपने Blog में सिर्फ 5000 Unique Lebel जोड़ सकते हैं।
  • यदि Mobile Blogger से Photo डालते हैं तो उसकी Size 250 Kb से ज्यादा नही रख सकते।
  • BLogger आपको कुल 1 GB की Storage Capacity देता है।
  • एक Blog के जरिए 100 लेखकों को Invite किया जा सकता है।
  • यदि आपकी Website कोई Rule को तोड़ती है तो Google आपकी Website Suspend कर सकता है, वो भी बिना किसी Notice के।
  • आपको अपनी Website पर पूरा Control नही मिलता है।

लेकिन सीमाएँ कुछ भी हो, इस बात में कोई दोराय नही है की आज भी Blogger काफी लोगो के द्वारा उपयोग किया जाता है। खासकर जो लोग अपने Blogging Career की शुरुआत कर रहे हैं उनकी Journey Blogger से ही शुरू होती है।

तो आशा है कि आपको यह Post अच्छा लगा होगा। कुछ Useful जानकारी भी आपको मिली होगी। Blogger kya hai, इस बात को पूरे विस्तार से बताया गया है।

3db34a8310eed3a13c260cb2d22aa148?s=96&r=g
Kumarhttps://www.trendinghindi.com
नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम 'कुमार' है। मुझे लिखने और पढ़ने में बहुत दिलचस्पी है। मैं पिछले कई वर्षों से विभिन्न विषयों पर लिख रहा हूं। अगर आपको किसी भी विषय से संबंधित कोई समस्या है, तो हमें कमेंट करके बताएं और मुझे आपकी मदद करने में खुशी होगी।

Related Articles

SEO क्या है | What is SEO In Hindi

Blog पर Traffic लाना है तो जरूरी है कि Articles Search Engine में Top 10 Position में Rank हो, पर Rank तो...

Backlinks क्या है | What is Backlink In Hindi

Blog Create करने के बाद दो बहुत ही महत्वपूर्ण बातों पर Focus करना पड़ता है। जिसमे से पहला तो Quality Content है,...

WordPress Themes क्या है – पूरी जानकारी

आज के इस लेख में हम जानेंगे कि WordPress Themes क्या है, Free Themes और Premium themes के क्या फायदे और नुकसान...

Stay Connected

21,084FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

SEO क्या है | What is SEO In Hindi

Blog पर Traffic लाना है तो जरूरी है कि Articles Search Engine में Top 10 Position में Rank हो, पर Rank तो...

Backlinks क्या है | What is Backlink In Hindi

Blog Create करने के बाद दो बहुत ही महत्वपूर्ण बातों पर Focus करना पड़ता है। जिसमे से पहला तो Quality Content है,...

WordPress Themes क्या है – पूरी जानकारी

आज के इस लेख में हम जानेंगे कि WordPress Themes क्या है, Free Themes और Premium themes के क्या फायदे और नुकसान...

वर्डप्रेस प्लगइन्स क्या है – WordPress Plugins in Hindi

कई Bloggers अपने Blogging Journey की शुरुआत WordPress से करते हैं, क्योंकि Blogging के लिए सबसे आसान Platform यही है। WordPress को...

ब्लॉगर क्या है – What is Blogger In Hindi

आज का हमारा विषय है Blogger kya hai?जबसे Internet की क्रांति भारत मे आई है, तब से Online...