SEO क्या है | What is SEO In Hindi

Blog पर Traffic लाना है तो जरूरी है कि Articles Search Engine में Top 10 Position में Rank हो, पर Rank तो तभी होंगे न जब SEO का काम अच्छे से किया गया हो।

यह SEO क्या है? इसकी Defination तो आपने पढ़ी ही होगी किसी न किसी Blog पर। इसलिए आज हम आपको सिर्फ यह नही बताने वाले है कि What is SEO. बल्कि इससे भी ज्यादा जरूरी यह जानना है की SEO कैसे काम करता है?

तभी Blog का SEO बेहतर कर पायेंगे। वही यदि आपको नही पता कि हमारे Blog के लिए SEO क्यों जरूरी है तो उस पर भी बात की जाएगी।

हमारा प्रयास है कि SEO से संबंधित In depth जानकारी आपको मिलें। तो चलिए शुरू करते हैं SEO की Journey और पहुँचते हैं इसके पहले पड़ाव और जानते है SEO क्या है?

SEO क्या है | What is SEO

SEO एक तरह से कई तकनीक का मिश्रण है, जिनका उपयोग करके हम अपने लिखे किसी भी Post/Article को Search Engine में Top Position पर लाते हैं।

Search Engine का मतलब तो आजकल Google ही है कि क्योंकि Google Search Engine के सबसे ज्यादा User है। लेकिन Google के अलावा Yahoo, Bing जैसे Search Engine भी मौजूद है।

SEO को और आसान भाषा मे समझे तो यह कह सकते है कि SEO के जरिए Google को यह बता रहे हैं कि किसी ख़ास Keyword पर हमारा भी एक Article है।

SEO कुछ और नही बस Simple Tips & Tricks होते हैं, जिनका उपयोग हम अपने Blog में करते हैं। लेकिन कभी इस भूल में मत रहिएगा की एक बार SEO कर लिया तो काम पूरा गया।

Google की Algorithm हमेशा बदलती रहती है, और उसके हिसाब से SEO Techniques में बदलाव करने पड़ते है।

SEO कैसे काम करता है?

SEO कैसे काम करता है, यह जानने से पहले थोड़ा जान लेते है कि Search Engine कैसे काम करता है।

किसी भी Blog से Data लेने के लिए Search Engine उन पर Spider भेजता है जिन्हें Bots भी कहते हैं।

ये हमारे Website का न सिर्फ Data Collect करते हैं बल्कि साथ मे Website Speed, Article’s Title, Meta Tag, Internal Linking, Backlinks जैसी तमाम Imformation इकट्ठा करते हैं और फिर Google को देते हैं।

इसके बाद Google इस जानकारी के आधार पर यह तय करता है कि आपका कौन सा Article, किस Keyword पर कौन से Position पर Rank करेगा।

एक मिनट, Google का मतलब आप यह तो नही सोच रहे कि इंसानों की कोई टीम बैठकर यह सब तय करती है?

यदि सोच रहे हैं तो बिलकुल गलत है क्योंकि यह सब Google का Mathematical Algorithm तय करता है। यह Alogorithm करीब 200 से भी ज्यादा Factors को ध्यान में रखकर सब कुछ तय करता है।

हालांकि Google कभी इस बात को Reveal नही करता है कि उसका अल्गोरिथम कैसे काम करता है, लेकिन फिर भी जो थोड़ा बहुत जानकारी है, उसी के आधार पर SEO का काम करते हैं।

SEO में हम वो सभी काम करते हैं, जिसे गूगल का अल्गोरिथम वेबसाइट के लिए अच्छा मानता है। जैसे वेबसाइट की स्पीड तेज होना, नेविगेशन अच्छा होना आदि।

SEO के प्रकार|Types of SEO.

SEO मुख्यतः तीन प्रकार का होता है:-

  • On-Page SEO
  • Off-Page SEO
  • Technical SEO

On-Page SEO क्या है | What is On-Page SEO?

Blog Post या Article लिखते समय हम जिन प्रमुख बिंदुओं पर ध्यान देते है ताकि हमारा Article Google में अच्छी पोजीशन में रैंक हो, वही बिंदु On-Page SEO कहलाता है।

On-Page SEO में कई Factors पर ध्यान देते हैं। Keyword Research करना, Post का Tittle, Tags, Permalink, Internal Linking, Heading में Keyword, Body में Keyword का सही उपयोग, H1,H2,H3 का सही उपयोग जैसे कई Factors है जो On-page SEO के अंदर आते हैं।

Post की अच्छी Ranking में On-page SEO का बहुत अहम Role होता है। तो चलिए कुछ जरूरी Tips भी जान लेते हैं, On-page SEO के लिए।

1. Blog Title का SEO.

On Page SEO में सबसे पहले आता है Post का Tittle. Post का Tittle न तो बहुत बड़ा होना चाहिए न ही बिलकुल छोटा।

कोशिश करें कि Title में मुख्य Keyword जरूर आ जाएं, लेकिन सिर्फ एक बार। Post का Title ऐसा हो जिसे पढ़कर ही पोस्ट के बारे में आईडिया मिल सकें।

2. Permalink कैसा हो?

Blog पोस्ट का Permalink बड़ा बिलकुल भी नही होना चाहिए। इसे आप खुद Edit कर सकते हैं। Permalink में Keyword जुड़ा हो तो बहुत अच्छा है।

वही यदि आपके Blog से ऐसे URL को हटा दें जिनका कोई उपयोग है ही नही। ऐसे URL से आपके ब्लॉग का Impression ख़राब होता है Google की नजर में।

3. Meta Description कैसा हो?

Google में जब हम कोई Keyword Search करते हैं तो Google Result में Tittle, URL और Meta Description ही दिखाई देता है।

सामान्यतः Visiters Title और Meta Description पढ़ कर ही किसी Blog पर जाते हैं। इसलिए Meta Description काफी आकर्षक होना जरूरी है ताकि लोग Click करने के लिए मजबूर हों।

Meta Description में Keyword का उपयोग हो सके तो बहुत अच्छा है। कुछ लोग यह गलती करते हैं कि एक ही Meta Description को सभी Post में डालते रहते हैं, पर इससे Website पर बुरा असर पड़ता है।

4. Content के अंदर Keywords Density

आर्टिकल के शुरुआती 100 शब्दों में एक बार Keyword का आना SEO के लिहाज से अच्छा माना जाता है। Keyword का इस्तेमाल इस प्रकार करें कि पढ़ने के Flow के साथ तालमेल बैठता हो।

इसके बाद Heading, Subheading में भी Keyword का उपयोग कर सकते हैं। आर्टिकल पूरा होने के बाद एक निष्कर्ष लिखें जिसमे Keyword आखिरी बार डाल सकते हैं।

किसी भी Post पर 2.5% से ज्यादा Keyword Density नही होना चाहिए।

5. H1,H2,H3 का सही उपयोग.

सामान्य लेख में जयादातर H1,H2,H3 का उपयोग किया जाता है किया जाता हैं। लेकिन किसी विशेष जानकरी को समझाने के लिए H1 से लेकर H6 टैग का उपयोग किया जा सकता है। Post का Tittle पहले से ही H1 Heading में होता है, इसलिए Post के अंदर कभी भी H1 Heading का उपयोग न करें।

अपने आर्टिकल की सभी Heading को H2 कर के रखें, और जो Subheadings आ रही हैं उन्हें H3 Tag दीजिए।

Headings में Keywords का उपयोग कर सकते हैं लेकिन ध्यान रहें कि 50% से ज्यादा Headings पर Keyword न हो।

6. Image को Optimized करें.

Image का Optimization भी जरूर करें। Image में Alt Tag और Title Tag जरूर डालें जिसमें मुख्य Keyword जरूर हो।

इसके साथ ही IMAGE को हमेशा Compress करके ही डालें क्योंकि Image की बड़ी Size के कारण Webpage की Loading Speed कम हो जाती है।

7. Internal और External Linking जरूर करें.

Internal Link का मतलब है अपने Blog के सभी Articles को एक-दूसरे से जोड़ना। यदि किसी Page पर जमकर Traffic आ रहा है तो उस Page पर दूसरे Articles की Link डाल सकते हैं।

जब कोई उस Page पर आएगा तो बाकी के Page पर भी जा सकता है, जिससे बाकी Pages पर भी View आयेंगे।

वही External Link का मतलब है कोई दूसरी वेबसाइट आपके Blog के किसी Post की Link अपने Website में दे।

External Links, Search Engine में Ranking Improve करने में एक अहम Role निभाती हैं।

8. Full Detailed आर्टिकल लिखें.

Google चाहता है कि Visiters को अच्छा अनुभव मिलें, उन्हें सही और पूरी जानकारी मिले। इसलिए Content Creator को यह ध्यान रखना चाहिए कि ऐसे Articles लिखें जिनमे जानकारी बहुत विस्तार से दी गई हो।

Post की शब्द संख्या करीब 2000 शब्द के आसपास हो तो यह अच्छा माना जाता है। किसी भी Topic पर लिखते समय एक बार टॉप परिणाम जरूर देखें।

Off-Page SEO क्या है | What is Off-Page SEO?

Off-Page SEO में हम अपनी Website या Post पर कोई काम नही करते,बल्कि सारा काम Website के बाहर किया जाता है।

जैसा कि ऊपर बताया है कि On-Page SEO में Website के अंदर कई काम करने होते हैं ताकि Google में Post की Ranking अच्छी हो।

ठीक इसी तरह कुछ External Factor भी होते हैं जिनसे Ranking प्रभावित हो सकती है। इन्ही External Factor से संबंधित काम ही Off-Page SEO कहलाता है।

तो चलिए थोड़ा जान लेते हैं Off-Page SEO में किन चीजों पर काम किया जाता है।

1. Social Media

social Media पर Engagement बढ़ाना भी एक SEO Technique है, जिसे Google अहमियत देता है। यदि Social Media से Blog पर Traffic आता है तो Google यह समझता है कि इस Website में कुछ Useful Content जरूर है।

जिसके बाद वो भी Organic Traffic भेजना शुरू करता है। इसलिए अपने Blog Post को कम से कम 7 सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जरूर शेयर करें।

2. Article Submission

किसी High PR आर्टिकल सबमिशन Directories में में आप चाहे तो आर्टिकल Submit कर सकते हैं और वहाँ से Backlink पा सकते हैं।

आपको बस Content की Quality पर ध्यान देना है। High Quality Content हो, Keyword Stuffing बिलकुल भी न हो, नही तो Reject हो सकता है।

3. Question Answer Sites

यह भी एक तरह का Off Page SEO है, जिसमे हम कुछ Question Answer Website को Join करते हैं और उसमे अपने Business या Blog Niche से जुड़े प्रश्नों का जवाब देते हैं।

ऐसा करने से Backlink तो बनती ही है, साथ मे Traffic भी आता है।

4. Video & Image Submission

आप कुछ अच्छी Image और Video बनाकर Image और Video Sharing Sites पर सबमिट कर सकते हैं। जैसे आप अपने Blog से जुड़ा एक Youtube Channel बना सकते हैं।

ऐसी Sites का PR बहुत अच्छा होता है और इसका सीधा फायदा आपकी Website को पहुँचता है।

Technical SEO क्या है | What is Technical SEO?

अपनी Website के तकनीकी पहलू (Technical Aspects) पर ध्यान देना और उन्हें सुधारना ताकि Web Page की Ranking Search Engine में सुधर सकें, Technical SEO कहलाता है।

Technical SEO को On-Page SEO की तरह ही होता है, जिसमे हमें अपनी Website के अंदर ही काम करना पड़ता है।

Technical SEO के अंदर Website के Technical Aspects जैसे Theme, Website की Loading Speed, Mobile Friendly, Sitemap, Website की Security आदि पर ध्यान दिया जाता है।

तो चलिए कुछ महत्वपूर्ण Technical SEO के बारे में जान लेते हैं।

1. Website Speed

Website की Loading Speed अच्छी होनी चाहिए। Website की कोई Post भले ही अच्छे Position पर Rank कर रही हो लेकिन यदि Loading Speed अच्छी नही है तो आधे से ज्यादा Visiter दूसरे Website पर चले जायेंगे।

2. Sitemap

Sitemap Technical SEO का दूसरा अहम Part है . Sitemap असल मे हमारे Blog का एक लेखा जोखा है जो हम Google को देते हैं।

इसके जरिए हम Google को बताते हैं कि हमारी Website में क्या-क्या है। यह XML Format में होती है।

3. Website Security

एक अच्छी Website आमतौर पर Secure होती है। आजकल Google इस बात पर बहुत ध्यान देता है कि क्या Website उपयोगकर्ता की Privacy का ध्यान रख रही है या नही।

Website को Secure बनाने के लिए HTTPS का उपयोग करें। इस से Browser और Site के हुए Data Transfer को कोई Intercept नही कर सकता।

HTTPS का उपयोग करने के लिए पहले SSL Certificate अपनी वेबसाइट पर लगाना पड़ेगा।

4. Dead Links

Website की Slow Loading Speed एक थकाऊ काम है। कोई भी ऐसी Website पर ज्यादा देर नही रुकना चाहेगा। Website की Speed Slow होने का एक कारण Dead Links है।

जितनी ज्यादा Dead Links, Users को उतनी ही ज्यादा दिक्कत, और Users को दिक्कत है तो फिर Google की नजर में Site की Value कम होगी।
इसलिए Dead links को हटाना जरूरी है।

5. Duplicate Content

कई बार एक ही तरह का Content हमारे ही Blog के अलग अलग Pages में होता है या फिर अलग अलग Website में Same Content होता है।

ऐसे में Google Confuse हो जाता है कि वह किस Content को ऊपर Rank करें और किसे नीचे। यह भी हो सकता है कि Google सभी URL को नीचे रैंक कर दें।

फिर तो आपकी पूरी मेहनत बेकार गई। इसलिए Technical SEO में इस बात का ध्यान रखें कि Same Content न हो।

पर यदि है तो Canonical Link के जरिए Google को यह जरूर बताएं कि Original Content कौन सा है और Google किसे प्राथमिकता दे।

6. AMP

AMP HTML Code से Mobile पर content की Delivery बहुत Fast हो जाती है। किसी भी Web Page का AMP Version Mobile Device मर बहुत जल्दी Load हो जाता है।

यह Version मुख्य रूप से Mobile के लिये ही बनाया गया है। यह देखा गया है कि ऐसे Web Pages को ज्यादा पढ़ा और Share किया जाता है।

Google कभी कभी AMP Pages को Search Result में अच्छी Position देता है।

SEO क्यों जरूरी है?

SEO का मतलब है Search Engine के अनुसार अपने Blog को Optimize करना। Blog पर SEO जितना बेहतर रहेगा, Google उतनी ही आसानी से Content को समझ सकेगा और Relevant Keywords पर Article को वह अच्छी Positions पर Rank भी करेगा।

सारा खेल Ranking का है। Google में टॉप 3 पोजीशन पर Rank होने वाले आर्टिकल पर क्लिक होने की संभावना 40% तक रहती है।

वही 9वी पोजीशन पर मौजूद Website पर क्लिक होने की संभावना मात्र 2% रहती है। यानी जितनी अच्छी Ranking, उतना ज्यादा Organic Traffic आने की संभावना।

साथ ही जितनी ज्यादा Organic Traffic आएगी उतना ही अच्छा उस Traffic से लाभ मिलेगा।

लेकिन Google पर कोई भी Post टॉप 5 में तभी Rank करेगा जब उसका On-Page SEO, Off-Page SEO और Technical SEO जबरजस्त हो।

Search Engine में Post की Ranking अच्छी हो, इसीलिए SEO जरूरी है। SEO क्यों जरूरी है Blog के लिए अभी आप समझ गए होंगे।

SEO कैसे सीखें | How to learn SEO?

यदि आप digital marketing या blogging में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं और इसके माध्यम से पैसे कमाना चाहते हैं तो SEO सीखना ही पड़ेगा।

SEO की जानकारी के बिना कोई भी एक सफल विशेषज्ञ बन ही नही सकता। SEO सीखने के लिए आप कुछ तरीके अपना सकते हैं जैसे:-

1. SEO Blogs

कई Bloggers है, जो SEO से संबंधित जानकारी अपने Blog मे देते हैं। आप उनके Blog से सीख सकते हैं।

यदि आपको हमारा Content समझ मे आ रहा है और Useful लग रहा है तो हमारे Blog से भी SEO और Blogging के बारे में बहुत कुछ सीख सकते हैं।

2. SEO Courses

आज कई Institute है जो Digital Marketing और SEO का Paid Course करवाती है। ये Online और Offline दोनों Mode में उपलब्ध है। आप अपनी सुविधानुसार किसी भी तरीके से SEO सीख सकते हैं।

3. By reading books

Blogging की दुनियाँ में सफलता पा चुके कई लोग SEO से संबंधित किताबें प्रकाशित करते रहते हैं। आपको किसी अच्छे Blogger की लिखी क़िताब पढ़नी है, तब SEO का Concept काफी हद तक Clear हो जाएगा।

4. YouTube

SEO या Blogging से जुड़ी किसी भी समस्या का समाधान पाने की सबसे अच्छी जगह Youtube है। एक तो इसमें कोई Investment नही करनी पड़ती और यह हर वक़्त उपलब्ध रहता है।

हाँ बस थोड़ी सी मशक्कत एक ऐसे Youtube Channel को खोजने में करनी पड़ सकती है, जो SEO अच्छे से सिखातें हो। आप यहाँ से भी SEO सीख सकते हैं।

5. Learn SEO by practicing

एक दोहा है करत-करत अभ्यास के जड़मति होत सुजान। यानी अभ्यास करने से तो मूर्ख भी समझदार बन जाता है। तो आप भी SEO सीखने के लिए अभ्यास करिए।

एक Blog बनाइए। चाहे तो Blogger में Free में बना लें। बस उस पर SEO के Tips आजमाकर देखें। ऐसा करने से आप खुद SEO के अच्छे जानकार बन जायेंगे।

इस लेख में आपने क्या सीखा?

तो इसी के साथ SEO के ऊपर यह लेख पूरा होता है। इस लेख में आपने सीखा की SEO क्या है,SEO कैसे काम करता है,SEO क्यों जरूरी है।

SEO के प्रकार, On-page SEO क्या है, Off-Page SEO क्या है और SEO कैसे सीखें। आशा है कि आपके मन मे चल रहे सभी प्रश्नों का जवाब मिल गया होगा।

Blogging से संबंधित और भी जानकारी और समस्याओं का हल जानने के लिए Blog पर आते रहे।

3db34a8310eed3a13c260cb2d22aa148?s=96&r=g
Kumarhttps://www.trendinghindi.com
नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम 'कुमार' है। मुझे लिखने और पढ़ने में बहुत दिलचस्पी है। मैं पिछले कई वर्षों से विभिन्न विषयों पर लिख रहा हूं। अगर आपको किसी भी विषय से संबंधित कोई समस्या है, तो हमें कमेंट करके बताएं और मुझे आपकी मदद करने में खुशी होगी।

Related Articles

SEO क्या है | What is SEO In Hindi

Blog पर Traffic लाना है तो जरूरी है कि Articles Search Engine में Top 10 Position में Rank हो, पर Rank तो...

Backlinks क्या है | What is Backlink In Hindi

Blog Create करने के बाद दो बहुत ही महत्वपूर्ण बातों पर Focus करना पड़ता है। जिसमे से पहला तो Quality Content है,...

WordPress Themes क्या है – पूरी जानकारी

आज के इस लेख में हम जानेंगे कि WordPress Themes क्या है, Free Themes और Premium themes के क्या फायदे और नुकसान...

Stay Connected

21,084FansLike
0FollowersFollow
0SubscribersSubscribe
- Advertisement -

Latest Articles

SEO क्या है | What is SEO In Hindi

Blog पर Traffic लाना है तो जरूरी है कि Articles Search Engine में Top 10 Position में Rank हो, पर Rank तो...

Backlinks क्या है | What is Backlink In Hindi

Blog Create करने के बाद दो बहुत ही महत्वपूर्ण बातों पर Focus करना पड़ता है। जिसमे से पहला तो Quality Content है,...

WordPress Themes क्या है – पूरी जानकारी

आज के इस लेख में हम जानेंगे कि WordPress Themes क्या है, Free Themes और Premium themes के क्या फायदे और नुकसान...

वर्डप्रेस प्लगइन्स क्या है – WordPress Plugins in Hindi

कई Bloggers अपने Blogging Journey की शुरुआत WordPress से करते हैं, क्योंकि Blogging के लिए सबसे आसान Platform यही है। WordPress को...

ब्लॉगर क्या है – What is Blogger In Hindi

आज का हमारा विषय है Blogger kya hai?जबसे Internet की क्रांति भारत मे आई है, तब से Online...